Hindi Diwas 2022 – Date, Slogans, Speech & More With Fun

हिंदी दिवस 2022 (Hindi Diwas or Hindi Day Date 2022) – भारत पूरे विश्व भर में सबसे अधिक संस्कृतियों वाला देश है यह देश अनेक परंपराओं और भाषाओं का एक मात्र स्थान है। यहां के लोग भी अनेक धर्मो को मानने वाले हैं। अगर बात करें भाषाओं की तो यहां पर बोलने जाने वाली भाषाएं भी अनेक है लेकिन हिंदी भाषा सब भाषाओं में सबसे प्रमुख भाषा मानी जाती है। भारत में हिंदी भाषा का स्थान सबसे ऊंचा है और पूरी दुनिया में हिंदी भाषा चौथी सबसे अधिक बोले जाने वाली भाषा है।

भारत देश में अनेक भाषाओं का उपयोग किया जाता है लेकिन हिंदी भाषा को अधिक बोला और लिखा जाता है अगर हम बात करें अखबारों की तो हिंदी में लिखे जाने वाले अखबारों की भी संख्या बेहद ही अधिक है। हिंदी भाषा को भारत देश में सर्वोच्च दर्जा दिया जाता है और इसी वजह से ही हिंदी को हमारी राष्ट्रभाषा के रूप में माना जाता है।

भारत देश में अनेक राज्य हैं और इन सभी राज्यों की अपनी-अपनी भाषाएं भी हैं लेकिन यहां के लोग भी हिंदी भाषा में ही बातचीत करते हैं और हिंदी भाषा को ही उपयोग में लाते हैं। अगर आप भारत में किसी भी कोने में चले जाएं तो वहां पर आपको हिंदी बोलने वाले लोग मिल ही जाएंगे।

आप जरूर जानना चाहेंगे हिंदी भाषा को सम्मान देने के लिए 10 जनवरी को विश्व हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है। और अगर हम बात करें हिंदुस्तान की तो हिंदुस्तान में हिंदी दिवस 14 सितंबर को मनाया जाता है। हमने इस लेख में हिंदी दिवस के विषय में अनेक जानकारियां प्रदान की हैं आप इस लेख को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

अगर आप बात करें हिंदी की और भारत की तो भारत में हिंदी भाषा एक पुरानी भाषा के रूप में माना जाता है यह बोले जाने वाली प्राचीन भाषाओं में से एक है। हिंदी भाषा संस्कृत भाषा का एक रूप भी माना जा सकता है। इसलिए हम आपसे एक विनम्र आग्रह करना चाहेंगे कि जब भी आप हिंदी भाषा का उपयोग करें तो गर्व महसूस करें क्योंकि यह अनेक भाषाओं में से एक भाषा है जो बेहद प्राचीन है और इसको सीखना भी बहुत सरल है। भारत में अनेक भाषाएं बोली जाती हैं लेकिन संस्कृत और तमिल भाषा सबसे ज्यादा प्राचीन है कहा जाता है कि तमिल भाषा विश्व की बोले जाने वाली सबसे पुरानी भाषा है।

हिंदी दिवस पर महत्वपूर्ण दस पंक्तियां (Hindi Diwas)

1. हिंदी दिवस 14 सितंबर 1949 से मनाया जा रहा है।
2. देवनागरी लिपि पर लिखी गई हिंदी, हिंदी का वास्तविक रूप धारण करती है जिसे भारत के संविधान ने अपनाया था।
3. हिंदी दिवस एक ऐसा दिन है जो हिंदी को उसकी उचित पहचान देता है और इसे विलुप्त होने से बचाने के लिए मनाया जाता है।
4. हिंदी साहित्य सम्मेलन के दौरान राष्ट्रभाषा के रूप में हिंदी की सिफारिश करने वाले महात्मा गांधी सबसे पहले व्यक्ति थे।
5. हिंदी के पुराने संस्करण हिंदुस्तानी, हिंदवी और खारी-बोली थी जो 10 वीं शताब्दी ईस्वी में बोली जाती थीं।
6. हिंदी दिवस उन लोगों द्वारा एक त्योहार की तरह मनाया जाता है जो हिंदी पसंद करते हैं एवं बोलते हैं साथ ही यह युवाओं को उनकी जड़ों और संस्कृति के बारे में याद दिलाने का एक तरीका है। Hindi Diwas 2022
7. दुनिया भर में लगभग 80 करोड़ लोग हिंदी बोलते हैं।
8. हिंदी आधुनिक इंडो-आर्यन भाषाओं के दायरे में आती है।
9. हिंदी विश्व की चौथी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है।
10. हिन्दी का इतिहास लगभग 1500 वर्ष पुराना है

Hindi Diwas Speech

मेरे माननीय प्रधानाचार्य महोदय,
मेरे आदरणीय शिक्षण गण और मेरे प्यारे दोस्तों

आप सब को सुप्रभात

मैं अजय पंडित हूं , और आज मैं आपको हिंदी दिवस पर कुछ महत्वपूर्ण जानकारी लेना चाहता हूं

दोस्तों जैसे की हम सबको मालूम है हम आज इस महान दिन पर हिंदी दिवस के मौके पर एक साथ उपस्थित हैं, आज का दिन हर एक भारतवासी के लिए अमूल्य है और आज हम बेहद खुश हैं की एक साथ अमन से एक दूसरे को सुन रहे हैं। आज का दिन हिंदी दिवस का दिन है आज ही के दिन हम हिंदी को अपनी मातृभाषा के रूप में जानते हैं।

राष्ट्रीय हिंदी दिवस हर साल 14 सितंबर को मनाया जाता है भारतवर्ष अनेकता में एकता वाला देश है। यहां अनेक धर्म है अनेक संस्कृतियों हैं और अनेक भाषाओं परंपराओं के साथ हम एक दूसरे के साथ अमन से रहते हैं। यह देखने को बेहद ही कम मिलता है लेकिन हमारा देश सबसे अलग है। हमारे देश की सौंदर्य का जवाब नहीं।

हमारे देश में अनेक भाषाएं बोली जाती हैं अनेक राज्य हैं हर राज्य की अपनी भाषा है लेकिन हिंदी का उपयोग हर जगह किया जाता है सिर्फ भारत में ही नहीं विश्व में हिंदी बोली जाने वाली चौथी भाषाओं में से एक है। हिंदी का उपयोग करीब-करीब पूरे हिंदुस्तान में किया जाता है। हिंदी भाषा एक प्राचीन भाषा है और इसकी खासियत भी अनेक हैं। Hindi Diwas 2022

मैं आपको हिंदी भाषा के बारे में कुछ जानकारियां भी देना चाहूंगा जैसे कि अगर हम बात करें वर्ष 2001 की तो वर्ष 2001 के रिकॉर्ड के अनुसार लगभग लगभग 27 करोड़ नागरिक हिंदी में ही बात करते हैं यह आंकड़ा सिर्फ हिंदुस्तान का ही बता रहे हैं। हिंदी भाषा को 14 फरवरी 1940 को भारत की राष्ट्रीय भाषा के रूप में माना गया था तब से ही हिंदी भाषा कोकुछ दर्जा प्राप्त है। और इसी के उपलक्ष में प्रति वर्ष 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है। हिंदी दिवस के दिन हम हिंदी को नमन करते हैं और हम वचन लेते हैं कि हिंदी भाषा को विश्व भर में पहुंचाएंगे।

अब मैं आपको हिंदी भाषा की प्राचीन रहस्य को भी उजागर करना चाहूंगा जैसे कि हिंदी एक इंडो आर्यन भाषा है और लिखने के लिए देवनागरी लिपि का उपयोग किया जाता है। राजेंद्र सिंह हजारी प्रसाद द्विवेदी, मैथिलीशरण गुप्त, काका कालेलकर और सेठ गोविंद दास गोविंद जैसे महान लोगों ने हिंदी को भारत की आधिकारिक भाषा बनाने के लिए कठिन परीक्षण किया।

भारतीय संविधान के अनुसार अनुच्छेद 343 के अनुसार हिंदी को आधिकारिक भाषा के रूप में अपनाया गया था। हिंदी दिवस को हिंदी के सम्मान के रूप में देखा जाता है हिंदी हमारी मातृभाषा है और हम इसका सम्मान करते हैं।

Hindi Diwas पूरे विश्व भर में बहुत ही उत्साह और गर्व के साथ मनाया जाता है और अगर हम बात करें भारत की तो भारत में इसे एक त्योहार के रूप में मनाया जा रहा है। विद्यालयों में, विश्वविद्यालयों में और सरकारी कार्यालयों में हिंदी दिवस को बेहद सम्मान और बेहद खुशी उल्लास के साथ मनाया जाता है।

प्राचीन विद्वान लोगों का मानना है कि हिंदी भाषा अपनी महान साहित्यिक कृतियों में प्रयोग की जाने वाली प्रमुख भाषा रही है। रामचरितमानस एक साहित्यिक कृति है जो हिंदी में भगवान राम की कहानी का वर्णन करती है। यह गोस्वामी तुलसीदास की सबसे महत्वपूर्ण कृतियों में से एक है जिसे सोलहवीं शताब्दी में लिखा गया था।

हिंदी भाषा अनेक भाषाओं में से एक है जिससे मूल रूप से संस्कृत भाषा से संबंधित किया गया है हिंदी एक भाषा के रूप में विकसित होकर हमारी राष्ट्रभाषा बन चुकी है।

वर्ष 1917 में भरूच में गुजरात शिक्षा सम्मेलन में मोहनदास करमचंद गांधी ने अपने ऐतिहासिक भाषण में हिंदी के महत्व पर प्रकाश डालते हुए जोर डालते हुए हिंदी भाषा को राष्ट्रभाषा के रूप में इस्तेमाल किए जाना चाहिए कहा था। और हिंदी भाषा को सरकारी अर्थव्यवस्था और धर्म के लिए संचार के रूप में लिया जाए यह भी उन्होंने आग्रह किया था।

आज के दिन में भारत देश में अनेक लोग ऐसे भी हैं जिनको हिंदी दिवस कैसे मनाया जाता है इस विषय में कोई जानकारी नहीं है तो हम उनकी मदद के लिए आज आपको यह बताना चाहते हैं रितेश के सर्व प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने पहली बार 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाने का फैसला किया था। हिंदी दिवस के उपलक्ष में भारत के विश्वविद्यालय और विद्यालयों में हिंदी साहित्य और सांस्कृतिक कार्यक्रम किए जाते हैं। प्रतियोगिताएं जैसे कि भाषणों का कार्यक्रम किए जाने चाहिए जिसमें छात्र-छात्राएं बढ़ चढ़कर हिस्सा लें यह सब जवाहरलाल नेहरू ने ही निर्णय लिया था और यह सब आज तक होता भी है।

इन कार्यक्रमों में छात्र-छात्राएं अनेक प्रकार की कविताओं का पाठ करते हैं और हिंदी निबंध पढ़कर हिंदी भाषा को गौरवान्वित करते हैं। हिंदी दिवस के इस अवसर पर प्रतियोगिताएं भी की जाती है जिसमें हिंदी के उपलक्ष पर कविताएं, भाषण इत्यादि किए जाते हैं।

हमें बेहद खुशी है कि हिंदी भाषा को भारत में ही नहीं बल्कि विश्व में सम्मान के रूप में देखा जाता है और हमारी भाषा विश्व भर में लोकप्रिय हो रही है।

अगर बात करें आज के समय की तो बहुत ही आधुनिक हो चुका है और लोगों को पश्चिमी सभ्यता काफी आकर्षित करती है इसी चीज को देखते हुए हिंदी भाषा का महत्व कुछ हद तक समाप्त होता दिख रहा है इसलिए हमारी कोशिश होनी चाहिए कि हम हिंदी को ज्यादा से ज्यादा उपयोग में लाएं और इसी भाषा को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाएं। अगर बात करूं मैं अपनी तो मुझे भारतीय संस्कृति बेहद पसंद है और मैं उम्मीद करता हूं कि आप सब भारतीय संस्कृति को कभी नहीं छोड़ेंगे और भारतीय संस्कृति को उपयोग में लाकर गर्व महसूस करेंगे।

जय हिंद, Hindi Diwas की बहुत-बहुत शुभकामनाएं

World Hindi Diwas और राष्ट्रीय हिंदी दिवस में अंतर क्या है

चलिए आज हम आपको बताते हैं कि विश्व हिंदी दिवस और राष्ट्रीय हिंदी दिवस में क्या अंतर है जैसे कि हम हिंदी दिवस और विश्व हिंदी दिवस को लेकर सोचते हैं तो भ्रमित हो जाते हैं। जैसे कि अगर हम बात करें बच्चों की दो बच्चों को लगता है कि हिंदी दिवस और विश्व हिंदी दिवस एक ही है लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है हम बताते हैं क्यों ऐसा नहीं है।

पहले हम इन दोनों में समानता बताते हैं समानता यह है कि दोनों ही दिवसों का उद्देश्य हिंदी भाषा को सम्मान प्रदान करना है और हिंदी भाषा का प्रचार प्रसार करना है। विश्व हिंदी दिवस 10 जनवरी 1975 को नागपुर में आयोजित किया गया था। पहले विश्व हिंदी दिवस का उद्घाटन माननीय प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी जी के द्वारा किया गया था। इसके बाद पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ने हिंदी के प्रचार प्रसार के लिए 2006 में प्रति वर्ष 10 जनवरी को हिंदी दिवस मनाने की घोषणा की थी। विश्व भर में हिंदी भाषा का विकास करने और एक अंतरराष्ट्रीय भाषा के तौर पर इसके प्रचार-प्रसार करने के उद्देश्य से विश्व हिंदी दिवस सम्मेलन की शुरुआत की गई थी।

लेकिन अगर बात करें हिंदी दिवस (Hindi Diwas 2022) की वह 14 सितंबर 1940 को संविधान सभा ने एकमत में हिंदी भाषा को भारत के लिए राजभाषा चुनना स्वीकार किया था उस रूप में मनाया जाता है। पहला हिंदी दिवस 14 सितंबर 1950 को मनाया गया था।

विश्व हिंदी दिवस 10 जनवरी को मनाया जाता है और राष्ट्रीय हिंदी दिवस 14 सितंबर को मनाया जाता है और पहला राष्ट्रीय हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 में मनाया गया था जबकि विश्व हिंदी दिवस 10 जनवरी 2006 में पहली बार मनाया गया था।

हिंदी भाषा के बारे में रोचक तथ्य

ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी में जोड़े गए 26 नए भारतीय अंग्रेजी शब्दों में आधार, डब्बा, हड़ताल, शादी – जनवरी में लॉन्च हुए ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी के 10वें संस्करण में 384 भारतीय अंग्रेजी शब्द हैं। हिंदी को अपनाने वाला बिहार पहला राज्य है – वर्ष 1881 में, बिहार ने उर्दू को हिंदी के साथ अपनी एकमात्र आधिकारिक राज्य भाषा के रूप में बदल दिया, इस प्रकार, हिंदी को अपनी आधिकारिक भाषा के रूप में अपनाने वाला भारत का पहला राज्य बन गया।

हिंदी – हिंदी शब्द की उत्पत्ति फारसी से हुई है।

आधुनिक देवनागरी लिपि
आधुनिक देवनागरी लिपि 11वीं शताब्दी में अस्तित्व में आई।

5वीं सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा
हिंदी चौथी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है। यह दुनिया भर में लगभग 80 करोड़ लोगों द्वारा बोली जाती है।

हिंदी के कुछ प्रमुख लेखक
काका कालेलकर, मैथिली शरण गुप्त, हजारी प्रसाद द्विवेदी, सेठ गोविंददास जैसे कई लेखकों ने हिंदी को राजभाषा बनाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

हिंदी बोलने वाले देश
हिंदी पाकिस्तान, नेपाल, बांग्लादेश, अमेरिका, ब्रिटेन, जर्मनी, न्यूजीलैंड, संयुक्त अरब अमीरात, युगांडा, गुयाना, सूरीनाम, त्रिनिदाद, मॉरीशस और दक्षिण अफ्रीका सहित कई देशों में बोली जाती है।

क्या हिंदी सीखना आसान है
हिंदी वर्णमाला के प्रत्येक अक्षर की अपनी स्वतंत्र और विशिष्ट ध्वनि होती है। परिणामस्वरूप, हिंदी शब्दों का उच्चारण ठीक वैसे ही किया जाता है जैसे वे लिखे जाते हैं, जिससे हिंदी भाषा सीखना आसान हो जाता है।

Also CheckEdistrict or Bhulekh

हिंदी दिवस के विषय में महत्वपूर्ण सवाल जवाब

प्रश्न. हिंदी दिवस पहली बार कब मनाया गया था
उत्तर. दोस्तों पहली बार हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 में बनाया गया था

प्रश्न. World Hindi Diwas कब मनाया गया था
उत्तर. विश्व हिंदी दिवस 10 जनवरी 2006 में पहली बार मनाया गया था

प्रश्न. हिंदी दिवस और विश्व हिंदी दिवस में क्या अंतर है
उत्तर. (Hindi Diwas 2022) हिंदी दिवस और विश्व हिंदी दिवस में कोई खास अंतर नहीं है दोनों ही हिंदी के प्रचार के रूप में देखा जाता है। हिंदी दिवस की बात करें तो हिंदी दिवस 14 सितंबर को मनाया जाता है वहीं विश्व हिंदी दिवस 10 जनवरी को मनाया जाता है। विश्व हिंदी दिवस के उपलक्ष यह है कि हिंदी भाषा को पूरे विश्व में फैलाना। वहीं हिंदी दिवस का उद्देश्य यह है कि यह एक हिंदी भाषा को भारत की मातृभाषा के रूप में मनाया जाता है। इस विषय में अधिक जानकारी इस लेख में दी गई है आप पढ़ सकते हैं।

तो इस लेख में हमने आपको Hindi Diwas 2022 के उपलक्ष में काफी सारी जानकारी दी है हमें उम्मीद है कि आपको यह लेख पसंद आया होगा और अगर इसलिए अपने आप की किसी भी तरह से मदद की हो तो हम चाहेंगे आप इसको शेयर जरूर करें शेयर करने के लिए आप व्हाट्सएप या फिर फेसबुक का उपयोग कर सकते हैं और हिंदी को प्रचार के रूप में इस लेख को शेयर करना अनिवार्य है अगर आप हिंदी को उपयोग करते हैं तो हम चाहेंगे कि आप ज्यादा से ज्यादा हिंदी का प्रचार करें।

आप हमें संपर्क भी कर सकते हैं हमें संपर्क करने के लिए यहां क्लिक करें

More About (HindiDay) Hindi Diwas 2022 Details Keep Visiting.